Videos

Kejriwal सरकार के काम के लिए क्या बोले Delhi के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्र



Arvind Kejriwal & Manish Sisodia interacted with Delhi Government Students on Education System in India at Thyagaraj Sports Complex, Delhi.

To watch all the exclusive videos like this go to this channel and subscribe and dont forget to click the bell button so that you can get a notification every time a video is posted

AAP Youtube

Tags
Show More

Related Articles

40 Comments

  1. केजरीवाल जी हिन्दू मुसलीम के बात नहीं करते वह सिचछा और बीकास के बात करते

  2. श्रीमान मंत्री महोदय,
    सादर नमस्कार.
    यदि आप के डाटा डाउन फाल नहीं जा रहा है तो भी बढ़िया ही होता है! Aap ke के टाईम मे जितना ग्रोथ रेट दिखाया है रिज़ल्ट को लेकर वो अच्छा है, परन्तु उतना ही है जितना समय के हिसाब से पहले भी रहा है! आपके कार्यकाल मे जिस तरह से अध्यापकों का शोषण हुआ है / वो बहुत खतरनाक है! Aap ke शिक्षक को ना आपने मेडिकल लीव दे रखी है ना ही सही ढंग से CL है! आप के द्वारा बढ़ाया गया workload itna ज्यादा है कि एक अध्यापक उसको स्कूल hours me तो क्या आपने घर के hours को मिला कर भी बड़ी मुस्किल से पूरा कर पाता है! आपके द्वारा शुरू की गई SMC ज्यादातर ऐसे लोग हैं जो बहुत कम साक्षर है, ऐसे लोगों द्वारा एक PRASIKSHIT अध्यापक के कार्य शैली पर बार बार TOKNA OR अपनी बातों को सही बता कर उसको लागू करने को कहना, जबकि देखा गया है कि उनको उस विषय पर ज़ीरो knowledge होता है! आप एक बात का आवश्य ध्यान रखें सर कि इन विद्यार्थीयों को इस मुकाम तक पहुंचाने मे इस शिक्षक का क्या रोल रहता है? यदि एक शिक्षक ही तनाव या दबाव मे रहेगा तो आप समझ सकते हैं कि उसकी कार्यशैली पर क्या प्रभाव पड़ेगा और इस तरह से विद्यार्थियों पर क्या प्रभाव रहेगा! आप ने एक प्रोफेशनल पर untrend आदमी SMC ke रूप में बैठा दिया है, जो कि सिस्टम को ना समझ कर सही और गलत को नहीं जान कर खुद अंधेरे मे रहता है!
    जिस तरह से स्कूल्स मे नादानी की उम्र मे आज हमारा भविष्य नशे की आगोश मे आ रहा है उसपर भी एक क्रांतिकारी प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है!
    Rahi बात midday मील की सर तो उसमे जो क्वालिटी सरकार द्वारा अनाज की भेजी जाती है वो उच्च गुणवत्ता की नहीं है बल्कि खराब रहती है, परंतु सरकारी एजेंसी से आता है और उसके साथ मे ok क्वालिटी के प्रूफ के साथ आता है तो आप उसको chalange नहीं कर सकते! कभी आप देखना जा कर क्या क्वालिटी रहती है!
    आपके ऐसे ऐसे अध्यापक जो बेहतरीन अध्यापन कार्य के पारंगत है और well qualified हैं, dekhne me आता है कि उनकी कुछ ऐसे कार्यों मे एक्स्ट्रा duties lga रखी होती हैं कि जिसका नुकसान बच्चों की शिक्षा पर सीधा पड़ता है यदि उस अध्यापक से सिर्फ अध्यापन कार्य करवाया जाए तो वो बच्चों को बहुत बेहतरीन बना सकता है! M phil or doctorate kiye हुए अध्यापक ऐसे ऐसे काम कर रहे है सर आप चाहें तो स्कूल्स से इसकी जानकारियां ले सकते है! जो काम इनके द्वारा किया जाता है वो भी जरूरी होता है करना परन्तु वो काम दूसरे किसी स्टाफ को देकर करवाया जाए तो शायद बेहतर रहे!
    आपके शिक्षा विभाग द्वारा कई बार इस तरह से आदेश निकाले जाते है जो कि या तो उसको follow karne ke समय के बीत जाने के बाद आता है या जब ये आता है तब उसको फालो करने मे बड़ी परेशानी रहती है!
    कई बार जल्दबाजी मे या अधूरेपन मे ऑर्डर आ जाते हैं जिनमे निर्देश clear नहीं होते हैं या उनको लागू करने मे परेसानी रहती है बाद मे ऐसे ऑर्डर को बदल दिया जाता है! इस तरह से विद्यार्थियों मे अभिभावक मे या अध्यापक मे तालमेल मे परेशानियां आ जाती है! आप एक सर्वे करवा कर देखें कि स्कूल्स और कैसे बेहतर किया जा सकता हैं जिसे गोपनीय रखा जाए और अध्यापक से सुझाव और समाधान और वर्तमान की परेशानियों के बारे मे पूछा जाए तो सारी समस्याएं निकलकर आयेंगी और समाधान सुझाव भी. जिसको follow kr ke बहुत से बेहतरीन सुधार किए जा सकते हैं! हर एक employee चाहता है कि वो एक बेहतरीन संस्था के साथ काम करे और उसको और बेहतरीन बनाये रखने मे अपना योगदान भी बनाए रखे क्यूंकि बेहतरीन संस्थान के साथ यदि आप जुड़े हुए हैं तो आप अपने आप में भी proud feel करते हैं और आपको देखने का नजरिया भी समाज का बेहतरीन और सम्मानजनक रहता हैं! Aap se इसी आशा के साथ नमस्कार कि इसपर आपका ध्यानाकर्षण हो!
    आभारी!

  3. Yeh Modi bhakt chutiyaa hein yeh kewal jaat paat dharam ki rajniti karte hein bataao modi ne essa kon saa kaam kiyaa jisse desh ke aam nagrik kaa Vikas ho rHaa ho
    BJP froud party he

  4. Sisodiya ji bahut achha he
    Yeh jo sarkaari school me difference hein kendriya raskv
    Yaa pratibha vikas me education me difference kyon he saare govt school same education honi chahiye
    Chunki private school me teacher me teacher ki aducation Kam hoti he salary kam hoti he jabki govt me isska ulta fir bhi govt school par bharosha Nahin
    Govt teacher ki dhang se lo
    Inko hos mat lene do yeh Moti Moti salary laker haraam ho gaye hein

  5. क्या यह सच में सरकारी स्कूल के बच्चे हैं मैं राजस्थान से हूं और यहां सरकारी स्कूल की हालत बहुत ही खराब है ना ट्रेंड टीचर है और ना ही ढंग के क्लासरूम

  6. Love & Respect should alive each other in our every single Heart. This is the real sign of our Progress and Development of united India.

    Almost every-day we are facing new & new issues, instead of constructive Personal and Public-development-work.

    If our Government come forward to reform our Quality-Free-Education, atleast read and write mother language, each and every Child, Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our Government come forward with the employment-scheme to each and every Family, who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our Elected-Government come forward with the Free-medical policy for ever one. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our Elected-Government reduce the prices of our daily kitchen food items, cooking Gas, Fuel, Petrol, Desiel, Public Transport. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our elected-Government strictly maintain Fundamental Law & Order in every state without playing Religion play cards & own money-making-Business polices. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our Government, Media & Bureaucrats have zero tolerance against any painful statement from anyone. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our Government come forward, treating all people equally and provide justice for all without religious discrimination. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our Government come forward without restrictions and no interfering in any Religion, Faith and Believe of the Public, what they like according to their Religion teaching and practice. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    If our elected-Government come forward to establish the New Smart Cities to accommodate to our Village people for better LIFE and reduce the burden of metro-Cities. Who will oppose to this Government & its ruling party?

    The government should understand that, if they do the Good-work for all of us and our Nation, then every person like and love to this Government and their Leaders from the core of our Hearts.

    Long-Life to our beautiful-Country India and our Honest-Leaders, those who never involve in Corruption and Crimes.

    Honesty is the best slogan and policy for our Nation-Building Development Program .

  7. बी जे पी ने आज तक सिर्फ मन्दिर मस्जिद पे बात करती है आप देख कर देखकर कुछ तो सीखो आम आदमी पार्टी से…

  8. Good manish Sisodiya sir agar sarkar kisi civilian ko sanmaan de to vo praud feel karta Hai lekin agar koi civilian sarkaar ko dil se sanmaan de to delhi sarkaar ko Kitna praud feel hoga dilli bole dil se kejriwal fir se 🥀🌺🌻💐🌷🌹🙏🥀🌹🌺🌻💐🌷🙏

  9. Education minister ho to aisa kaas haryana m bhi aisa hi ho to maja aa jaye par log to hindu muslim backward forward m busy h unhe mandir chahiye aur hume acchi job aur education let's see

Back to top button